Skip to main content

Muskurahat

उसकी एक मुस्कुराहट पर अपनी जान लुटा देंगे
वो कहे तो उसकी पलकों पर आसमान बिठा देंगे
देना होगा यदि मुझे अपनी मुहब्बत का सबूत मयंक
तो अपने लहू का एक एक कतरा पानी की तरह बहा देंगे....
✍✍✍✍  मयंक जैन

Comments

Popular posts from this blog

Shatranj ka khel

मेरी जिंदगी कोई शतरंज का खेल नहीं है ऐ सनम जहां मोहरा भी तेरे हाथ में और चाल भी तेरी ✍✍ मयंक जैन

मुसाफिर

तू मेरी मंज़िल नहीं हैं ऐ जिंदगी... मुसाफिर हूं इसलिए निकला हूं इस रास्ते पर...! ✍️✍️✍️मयंक जैन

Intezaar

हम करते रहे मौत का इंतजार पर कमबख्त वो भी माशुका की तरह बेवफा निकली...! ✍✍✍✍  मयंक जैन