30 April 2019

Shatranj ka khel

मेरी जिंदगी कोई शतरंज का खेल नहीं है ऐ सनम
जहां मोहरा भी तेरे हाथ में और चाल भी तेरी

✍✍ मयंक जैन


26 April 2019

Prem

हर तरफ बिखेरा है तुमने अपने हुस्न का जलवा
वरना जो कल तक करते थे प्रेम नाम से भी नफ़रत
वो भी आज तेरे दीवाने हैं....

✍✍ मयंक जैन


25 April 2019

Jindgi

​तेरे भी अफसाने हजार हैं ये जिंदगी
कभी किसी को सच्ची मुहब्बत से रूबरू करा देती है 
तो कभी किसी को बेवफाई से...

✍मयंक जैन


Shatranj ka khel

मेरी जिंदगी कोई शतरंज का खेल नहीं है ऐ सनम जहां मोहरा भी तेरे हाथ में और चाल भी तेरी ✍✍ मयंक जैन