5 July 2018

Dil



मैंने अपनी हर सांस पर तेरा नाम लिख दिया है
अब अपने चाहने वालों से कह दो इस दिल की रजिस्ट्री हों गई हैं...!

✍✍✍✍ मयंक जैन

No comments:

Post a Comment

write your view...

Shatranj ka khel

मेरी जिंदगी कोई शतरंज का खेल नहीं है ऐ सनम जहां मोहरा भी तेरे हाथ में और चाल भी तेरी ✍✍ मयंक जैन